श्री झण्डे जी मेले की भव्यता बढ़ाने पंजाब से पहुंची पैदल संगत, श्री गुरु महाराज जी के जयकारों के साथ हुआ श्री दरबार साहिब में स्वागत

  • श्री झण्डे जी मेले की भव्यता बढ़ाने पंजाब से पहुंची पैदल संगत
  • कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर श्री झण्डा जीे मेला आयोजन समिति ने पैदल संगत में शामिल सभी सदस्यों के करवाए आरटीपीसीआर टेस्ट
  • श्री गुरु महाराज जी के जयकारों के साथ हुआ श्री दरबार साहिब में स्वागत

देहरादून। पंजाब के विभिन्न हिस्सों से 80 सदस्यीय पैदल संगत का जत्था शनिवार शाम को श्री दरबार साहिब पहुंचा। शाम 5ः30 बजे श्री दरबार साहिब परिसर, श्री झण्डा साहिब में पैदल संगत का स्वागत किया गया। श्री दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज की अगुवाई में संगतों ने श्री झण्डा साहिब पर अरदास की। श्रीमहाराज जी ने संगत को दर्शन दिए व आशीर्वाद दिया। श्री दरबार साहिब परिसर श्री गुरु महाराज जी के जयकारों से गूंज उठा।

श्री दरबार साहिब, श्री झण्डा मेला के व्यवस्थापक केसी जुयाल ने जानकारी दी कि परंपरा के अनुसार हर साल की तरह इस वर्ष भी पंजाब की पैदल संगत श्री दरबार साहिब पहुंची है। श्री दरबार साहिब प्रबन्धन की ओर से रविवार दोपहर 12 बजे संगत का स्वागत प्राइमरी स्कूल कांवली में किया गया। शाम 5ः30 बजे श्री दरबार साहिब में संगत का भव्य स्वागत किया गया। पैदल संगत के श्री दरबार साहिब में पहुंचते ही रौनक में चार चांद लग गए हैं। काबिलेगौर है कि पंजाब की पैदल संगत के शुक्रवार को एसजीआरआर स्कूल, सहसपुर पहुंचते ही श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल की टीम ने आरटीपीसीआर सैंपल लिए गए थे। मेला समिति की ओर से सभी संगतों को अधिक सजगता की एडवाइज़री नियमित जारी की जा रही है।

यह भी पढ़ें -  आज राष्ट्रपति भवन में उत्तराखंड की इन तीन विभूतियों को पद्म पुरस्कारों से किया जाएगा सम्मानित

श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने जारी किया संदेश

श्री गुरु राम राय दरबार साहिब के श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने सभी संगतों व श्रद्धालुओं के नाम संदेश जारी कर कहा कि कोरोना वायरस के प्रति सजगता बरतें। भारत सरकार के स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन की ओर से कोरोना वायरस के प्रति बचाव की एडवाइज़री जारी की गई है सभी उसका अनुपालन करें। उन्होंने सभी संगतों व श्रद्धालुओं का आह्वाह्न किया कि पिछले कुछ दिनों में जिस प्रकार से कोरोना संक्रिमितों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है, उसको ध्यान में रखते हुए सभी श्रद्धालु व संगतें गाइडलाइन का पालन करें व सर्तकता बरतें।

श्री दरबार साहिब मेला स्थल पर लगेंगे थर्मल स्कैनर

श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल केे वरिष्ठ जनसम्पर्क अधिकारी भूपेन्द्र रतूड़ी ने बताया कि श्री झण्डा जी मेला प्रबन्धन समिति की ओर से श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल को विशेष एडवाइज़री प्राप्त हुई है। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डाॅ अनिल कुमार धवन ने बताया कि अस्पताल में कोरोना वायरस संबन्धित रोगियों के उपचार के लिए बैड आरिक्षित रखे गए हैं।

हिन्दी -पंजाबी में बार-बार प्रसारित होगी सूचना

कोरोना वायरस व इसके लक्षणों के प्रति जागरुकता एवम् सुरक्षा के मद्देनज़र श्री झण्डा जी मेला आयोजन समिति की ओर से हिन्दी, पंजाबी व अंगे्रजी भाषा में विशेष सूचनाएं तैयार की गई हैं। सचूना में अपील की गई है कि बुजुर्ग, वृद्ध, बच्चों व गर्भवती महिलाएं मेले में शामिल न हों। ऐसे लोग जो किसी अन्य देश से लौटे हों या किसी कोरोना वायरस सम्भावित के सम्पर्क में आए हों उनसे भी मेले में शामिल न होने की अपील की गई है। इसके अलावा मेला समिति की ओर से विशेष एडवाइजरी जारी कर वायरस के लक्षणों के प्रति सचेत रहने की अपील की गई है। मेला आयोजन के दौरान संगत व श्रद्धालुओं को नियमित तौर पर साफ सफाई, बचाव व वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जागरूक किया जाएगा। आॅडियो रिकाॅर्डेड सूचना के माध्यम से मेले में आने वाली संगत व श्रद्धालुओं से मेला आयोजन के दौरान नियमित अपील की जाएगी। सभी संगतों व श्रद्धालुओं से विनम्र आग्रह व अपील की गई है कि मेला स्थल को कोरोना वायरस रहित बनाने में सभी लोग अपना सहयोग दें।

यह भी पढ़ें -  समान नागरिक संहिता में विवाह की आयु लड़कों के लिए 21 वर्ष वे लड़कियों के लिए 18 वर्ष निर्धारित की गई है

विश्व प्रसिद्ध झंडा मेला को लेकर गाइडलाइन जारी

विश्व प्रसिद्ध झंडा मेला को लेकर देहरादून ज़िला प्रशासन ने गाइडलाइन जारी कर दी है। दो अप्रैल को दरबार साहिब में झंडे जी का आरोहण होगा। ऐसे में प्रदेश के साथ बाहर से भी संगते राजधानी देहरादून का रुख़ करती है। लेकिन वहीं बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुई देहरादून ज़िलाधिकारी डॉक्टर आशीष श्रीवास्तव ने गाइडलाइन जारी की है। जिसमें मेले को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है। झंडे जी के आरोहण में जितने व्यक्तियों की आवश्यकता होगी केवल उन्ही को परिसर में आने की अनुमति होगी। जिसमें कोरोना के सभी नियमो का पालन करना होगा। साथ ही कोई भी व्यक्ति झंडे जी के दरबार में आता है तो उसको अपने साथ 72 घंटे पूर्व की RT-PCR नेगेटिव रिपोर्ट लानी अनिवार्य होगी। साथ ही ज़िला प्रशासन ने सभी से अपील की है कि वो कोरोना से बचाव के लिए जारी सभी नियमो को कड़ाई से पालन करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here