अनजान वीडियो कॉल आए तो पहले ढक दें फ्रंट कैमरा,नही तो चुकानी पड़ सकती है बड़ी रकम

 

इंटरनेट के बढ़ते उपयोग के बीच साइबर अपराध के मामलों में भी तेजी आई है। स्थिति यह है कि साइबर अपराधी नित नई तरकीब से लोगों को ठग रहे हैं। इनमें से अश्लील वीडियो क्लिप बनाकर लोगों को ठगने के मामलों में वृद्धि हुई है। ऐसे में यदि कोई अज्ञात वीडियो कॉल आए तो फ्रंट कैमरा हाथ से ही ढक दें। पहचान के बाद ही बात करना मुनासिब है। अन्‍यथा आप अश्लील वीडियो क्लिप बनाने वालों के चंगुल में फंस सकते हैं। जो ऐसी क्लिप बनाकर लोगों से उगाही करते हैं। लोग सामाजिक मान मर्यादा न खराब हो इसके डर से फिरौती का शिकार बन रहे हैं।

 

 

फेसबुक और वाट्सएप पर वीडियो कॉल करके ठगों का नेटवर्क अश्लील वीडियो क्लिप बना रहा है। इसमें पीडि़त को कुछ सेकेंड के वीडियो कॉल कर ठग उनके चेहरे की तस्वीर ले लेते हैं, जिसके बाद किसी अश्लील वीडियो के साथ उसे जोड़कर पीडि़त को भेज देते हैं और उनसे रुपयों की मांग करते हैं। यदि कोई व्यक्ति पैसे देने में आनाकानी करता है तो इंटरनेट पर उसे बदनाम करने की धमकी दी जा रही है। ताजा मामला यूथ कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता हरीश रावत से जुड़ा हुआ है। जिसमें उन्हेंं वीडियो कॉल करके अश्लील क्लिप बनाई गई है। जिसके नाम पर उनसे 50 हजार रुपये की मांग की गई। पुलिस का कहना है कि अधिकांश लोग बदनामी के डर से आगे नहीं आ रहे हैं, जिसका फायदा साइबर अपराधी उठा रहे हैं और बेखौफ होकर अपराध कर रहे हैं।

 

 

यह भी पढ़ें -  Uttarakhand News: खटीमा से विधानसभा चुनाव में सीएम धामी को मिली हार का ग्रामीणों ने किया सामूहिक रूप से सांकेतिक जल समाधि लेकर प्रायश्चित

 

साइबर पुलिस की ओर से कहा जा रहा है कि इस तरह की ठगी व अपराध से बचने के लिए अनजान वीडियो व फोन कॉल लोग रिसीव करने से बचना चाहि‍ए । यदि कोई संशय दिखे तो फ्रंट कैमरा हाथ से ढक दें, जिससे इस तरह की समस्या से लोग बच सकें। एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी ने बताया कि अज्ञात वीडियो कॉल रिसीव नहीं करना ही सबसे बेहतर उपाय है। यदि किसी को बहुत ज्यादा इमरजेंसी है तो वह सामान्य कॉल करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here