बद्री-केदार में विशेष आस्था रखने वाले मुकेश अम्बानी बने दादा, जाने क्यों बोले यूजर- पोते के लिए 620 करोड़ के लिए खिलोने

देहरादून: एशिया के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी के घर में खुशियों ने दस्तक दी है। मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश की पत्‍नी श्‍लोका ने वीरवार सुबह पुत्र को जन्‍म दिया है। आकाश और श्‍लोका की शादी 9 मार्च 2019 को आलीशान तरीके से हुई थी। नीता और मुकेश अंबानी अब पहली बार दादा-दादी बने हैं। ऐसे में एक बार फिर वह बदरी केदार का शुभाशीष लेने पहुँच सकते हैं। बता दें कि, मुकेश अम्बानी का उत्तराखंड के स्थित विश्वप्रसिद्ध बद्री-केदार धाम में विशेष आस्था है। यही कारण है कि, वह हर साल धाम के दर्शन करने आते रहे हैं।

बेटे के पेरेंट्स बने आकाश और श्लोका को लेकर भी उद्योगपति मुकेश अंबानी इससे पहले धाम पहुंचे थे। वह अब तक इन धामों के लिए करोड़ों का दान भी दे चुके हैं। वहीँ प्रत्येक वर्ष अंबानी परिवार बदरीनाथ धाम में पूजा के लिए प्रयुक्त होने वाली चंदन का खर्च वहन करता है।

आकाश और श्लोका दोनों की स्कूलिंग धीरूभाई अंबानी इंटरनैशनल स्कूल से हुई। श्लोका ने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस से लॉ में मास्टर्स डिग्री कंप्लीट की थी। बता दें कि पिछले साल मुकेश अंबानी की कंपनी, रिलायंस ने लगभग करीब 620 करोड़ रुपए में ब्रिटिश टॉय चेन हैमली को खरीदा था। जिसके बाद सोशल मीडिया पर मजाक कर रहे थे कि मुकेश अपने पोते के लिए अभी से तैयारी कर रहे हैं और खिलौने इकट्ठे कर रहे हैं।

अंबानी परिवार के एक प्रवक्ता ने बताया कि, “भगवान कृष्ण की कृपा से नीता अंबानी और मुकेश अंबानी पहली बार दादा-दादी बनने पर खुशी से फूले नहीं समा रहे हैं। मां और बेटा दोनों ही स्वस्थ हैं, और नन्हा मेहमान परिवार के लिए खुशियों की सौगात लाया है।”

यह भी पढ़ें -  पंजाब कांग्रेस प्रदेश प्रभारी का दायित्व आखिर क्यों छोड़ना चाहते हैं हरीश रावत, बताई ये वजह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here