अंकिता के परिजनों के द्वारा आवेश मे कुछ आरोपों को ढाल बनाकर कांग्रेस अब भाजपा के नेताओं के खिलाफ षड्यंत्र कर उनके खिलाफ चारित्रिक रूप से बदनाम करने की साजिश कर रही है

निराशा और हताशा का परिणाम हैं कांग्रेस के अमर्यादित बोल:चौहान

बड़ी ख़बर भाजपा से :बिना सबूतों के आरोप लगाने से बाज आये कांग्रेस नेता

चौहान ने कहा कि अंकिता हत्याकांड मे कांग्रेस को न दिवंगत बेटी अंकिता और न ही उस परिवार से कांग्रेस को कोई लेना देना है

कांग्रेस शुरुआत से ही किसी न किसी तरह इसके जरिये भाजपा नेताओं को निशाने पर लेकर दुष्प्रचार को हवा दे रही है

परिजनों के द्वारा अब तक जिस तरह से जांच मे सहयोग की मांग की गयी उसे समय पर पूरा किया गया

अंकिता के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए जांच एजेंसियों ने कोई कसर नही छोड़ी है। वहीं परिजनों के साथ भी प्रशासन से लेकर सीएम स्तर तक संवाद बना हुआ है

अगर कांग्रेस उस वीआईपी को जानती थी तो बार बार नाम के उल्लेख करने की मांग पर बैक फुट पर क्यों आयी। कांग्रेस कहीं न कहीं अंकिता के परिजनों को आगे कर भाजपा के खिलाफ षड्यंत्र रच रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

कांग्रेस को चेतावनी बिना सुबूत उनके नेताओं के खिलाफ अनर्गल आरोप लगाने पर पार्टी कानूनी कार्यवाही का रास्ता तलाशेगी

अंकिता के परिजनों के द्वारा आवेश मे कुछ आरोपों को ढाल बनाकर कांग्रेस अब भाजपा के नेताओं के खिलाफ षड्यंत्र कर उनके खिलाफ चारित्रिक रूप से बदनाम करने की साजिश कर रही है

सीएम पुष्कर सिंह धामी के मजबूत इरादों से राज्य मे भय और भ्रष्टाचार समाप्ति की ओर है और अंकिता ही नही, बल्कि हर बेटी राज्य की जिम्मेदारी है। राज्य मे कानून का राज है और कांग्रेस को इस गलतफहमी से जल्द निजात मिलने वाली है।

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी राम के काम और नाम के साथ छोड़ रहे है अपने फैसलों के तीर...

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कांग्रेस द्वारा उसके नेताओं पर अनर्गल आरोप और अमर्यादित बोल को लगातार मिल रही हार और खीज का परिणाम बताया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस निम्न स्तर की राजनीति कर रही है।
चौहान ने कहा कि अंकिता हत्याकांड मे कांग्रेस को न दिवंगत बेटी अंकिता और न ही उस परिवार से कांग्रेस को कोई लेना देना है, बल्कि वह शुरुआत से ही किसी न किसी तरह इसके जरिये भाजपा नेताओं को निशाने पर लेकर दुष्प्रचार को हवा दे रही है। उन्होंने कांग्रेस की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि पूर्व मे अंकिता के परिजनों द्वारा कांग्रेस की हर सुझाव को ठुकराने के बाद एकाएक वह कैसे चरित्र हनन की राजनीति पर उतारू हो गयी। कांग्रेस ने पहले भी यात्रा निकाली और तब उसे न अंकिता के परिजनों ने शिरकत की और न ही उसे स्थानीय स्तर पर कोई सहयोग मिला। कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा गुस्से मे गढवाल की जनता पर थूक बैठे।
इस बार अंकिता के परिजनों के द्वारा आवेश मे कुछ आरोपों को ढाल बनाकर कांग्रेस अब भाजपा के नेताओं के खिलाफ षड्यंत्र कर उनके खिलाफ चारित्रिक रूप से बदनाम करने की साजिश कर रही है। हालांकि अंकिता के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए जांच एजेंसियों ने कोई कसर नही छोड़ी है। वहीं परिजनों के साथ भी प्रशासन से लेकर सीएम स्तर तक संवाद बना हुआ है। परिजनों के द्वारा अब तक जिस तरह से जांच मे सहयोग की मांग की गयी उसे समय पर पूरा किया गया।

यह भी पढ़ें -  श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के स्वास्थ्य शिविर में पौड़ी जनपद के सुदूर क्षेत्रों से उमड़े पौड़ीवासी वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ. पंकज अरोड़ा ने रोगियों को दिया चिकित्सकीय परामर्श

उन्होंने कहा कि परिजनों के द्वारा जो भी आरोप लगाए गए जिन्हे आधार बनाकर कांग्रेस हवा दे रही है, असल मे वह आवेश मे कही गयी बात है। एक कथित एक्टिविस्ट के समर्थन मे वह अपनी बात पहुँचाते हुए यहाँ तक पहुँच गयी। अगर कांग्रेस उस वीआईपी को जानती थी तो बार बार नाम के उल्लेख करने की मांग पर बैक फुट पर क्यों आयी। कांग्रेस कहीं न कहीं अंकिता के परिजनों को आगे कर भाजपा के खिलाफ षड्यंत्र रच रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

चौहान ने कहा कि सार्वजनिक जीवन मे नैतिकता और मर्यादा की सीख देने वाली कांग्रेस इस मामले मे हमेशा उपदेशक ही रही है। उनके नेता राहुल गलत बयानी के आधार पर अभी पूरी तरह से राहत नही पा सके हैं और राज्य मे कांग्रेस के ऐसे दर्जनों किस्से उसके खाते मे है।

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा को कंफ्यूजड नेता करार देते हुए कहा कि वह बताये कि वह मूल निवास के मुद्दे पर आंदोलनकारियों का समर्थन करने की बात कहकर अब इससे मुकरने और रिसर्च की बात क्यों कर रहे हैं? उल्टा भाजपा पर आरोप लगा रहे है। कांग्रेस के नेता एक ओर तथा पूरी कांग्रेस दूसरी ओर है। जहाँ तक भाजपा का सवाल है तो पार्टी स्पष्ट कर चुकी है कि सख्त भू कानून तथा मूल निवास पर भाजपा ही जनपक्षीय निर्णय लेगी।

उन्होंने कांग्रेस को चेतावनी दी कि बिना सुबूत उनके नेताओं के खिलाफ अनर्गल आरोप लगाने पर पार्टी कानूनी कार्यवाही का रास्ता तलाशेगी। जनता की अदालत से किनारे कर दी गयी कांग्रेस को अपने हद मे रहने की जरूरत है। सीएम पुष्कर सिंह धामी के मजबूत इरादों से राज्य मे भय और भ्रष्टाचार समाप्ति की ओर है और अंकिता ही नही, बल्कि हर बेटी राज्य की जिम्मेदारी है। राज्य मे कानून का राज है और कांग्रेस को इस गलतफहमी से जल्द निजात मिलने वाली है।

यह भी पढ़ें -  ऋषिकेश-हरिद्वार नेशनल उतराखंड हाइवे पर तिलक रोड के पास up बस जो दिल्ली से आ रही थी अचानक डिवाइडर पर चढ़ गई जानिए वजह


उत्तराखंड की ताजा खबरें पढ़ने के लिए हमसे जुड़ें


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here