रजिस्ट्रार ऑफिस में गड़बड़ी मामले मे वरिष्ठ अधिवक्ता विरमानी होगा गया गिरफ्तार… मुख्यमंत्री धामी का भ्रष्टाचारियों पर चला चाबुक ….

रजिस्ट्रार ऑफिस में गड़बड़ी  मामले मे वरिष्ठ अधिवक्ता विरमानी होगा गया गिरफ्तार… मुख्यमंत्री धामी का भ्रष्टाचारियों पर  चला चाबुक  …. 

रजिस्ट्रार ऑफिस में पुराने बैनामों में छेड़छाड़ के मामले में प्राथमिक जांच के बाद डीएम ने कोतवाली देहरादून को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे। इसके बाद पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया। इनसे पूछताछ के बाद मुख्य आरोपी इमरान का नाम सामने आया।

रजिस्ट्रार ऑफिस में गड़बड़ी के मामले में वरिष्ठ अधिवक्ता कमल विरमानी को एसआईटी ने गिरफ्तार किया है। कई दिन की आंख मिचौली के बाद विरमानी अपने ही घर से एसआईटी के हत्थे चढ़ गए। अधिवक्ता को पुलिस किसी गुप्त स्थान पर ले गई, जहां उनसे देर रात तक पूछताछ की गई। विरमानी पर आरोप है कि उन्होंने अपने मुंशी और वकील इमरान के साथ मिलकर करोड़ों का खेल किया। मामले में अब तक नौ लोग गिरफ्तार हो चुके हैं।

रजिस्ट्रार ऑफिस में पुराने बैनामों में छेड़छाड़ का मामला डेढ़ महीने पहले सामने आया था। प्राथमिक जांच के बाद डीएम ने कोतवाली देहरादून को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे। इसके बाद पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया। इनसे पूछताछ के बाद मुख्य आरोपी इमरान का नाम सामने आया।

विरमानी का सीधे तौर पर इस मामले में हाथ

एसआईटी ने प्राथमिक पड़ताल के बाद वकील इमरान को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन बात यहीं खत्म नहीं हुई। मामले में कचहरी में और कई बड़े लोगों की तरफ उंगलियां उठने लगीं। इसी बीच नाम आया वरिष्ठ अधिवक्ता कमल विरमानी का। साक्ष्य नहीं मिलने से पुलिस विरमानी पर हाथ नहीं डाल पा रही थी, लेकिन तीन दिन पहले विरमानी के मुंशी को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इससे यह बात पुष्ट हो गई कि विरमानी का सीधे तौर पर इस मामले में हाथ है। बताया जा रहा है कि विरमानी ने 50 करोड़ से भी ज्यादा के वारे न्यारे इस जालसाजी में कर डाले।

 

यह भी पढ़ें -  प्रमुख द्वारीखाल महेन्द्र सिंह राणा ने ग्राम ओडलछोटा में टिन शैड एवं नाली निर्माण कार्य का किया लोकार्पण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here