मुख्यमंत्री धामी ने हरिद्वार में जलभराव की स्थिति की समीक्षा के बाद ये सभी महत्तवपूर्ण घोषणाएं की जिनमे जहां जलभराव हुआ है या बाढ आई उस क्षेत्र को आपदा क्षेत्र घोषित किया

मुख्यमंत्री  धामी ने हरिद्वार में जलभराव की स्थिति की समीक्षा के बाद ये सभी महत्तवपूर्ण घोषणाएं की जिनमे  जहां जलभराव हुआ है या बाढ  आई उस क्षेत्र को आपदा क्षेत्र  घोषित किया 

 मुख्यमंत्री धामी की घोषणा : आपदाग्रस्त क्षेत्रों में आगामी तीन माह तक विद्युत, जल, अन्य सरकारी देय एवं ऋणों की वसूली को स्थगित रखा जायेगा

 मुख्यमंत्री धामी ने कहा  आपदा की पुनरावृत्ति रोकने एवं बचाव के लिए बाढ़ प्रबन्धन योजना पर कार्य किया जायेगा  जिसमे छोटे पुलियों का निर्माण कराया जाना  भी सम्मिलित है

मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि जनपद हरिद्वार में जिन-जिन क्षेत्रों में भी विगत दिनों में भारी वर्षा से जलभराव हुआ है या बाढ़ आयी है, को आपदा क्षेत्र घोषित किया जायेगा 

आपदाग्रस्त क्षेत्रों में आगामी तीन माह तक विद्युत, जल, अन्य सरकारी देय एवं ऋणों की वसूली को स्थगित रखा जायेगा 

आपदाग्रस्त क्षेत्रों में सघनता से तीव्रता से व्यापक सर्वेक्षण कराकर मानकानुसार तत्काल राहत राशि का वितरण सुनिश्चित कराया जायेगा 

भविष्य में इस प्रकार की आपदा की पुनरावृत्ति रोकने एवं बचाव के लिए बाढ़ प्रबन्धन योजना पर कार्य किया जायेगा। जिसमें जल निकासी की व्यापक योजना तैयार कर कार्य कराना जाना एवं आवश्यकतानुसार छोटे पुलियों का निर्माण कराया जाना सम्मिलित है।

भविष्य में बाढ़ के खतरे को कम करने के लिए नदियों के चैनेलाईज कराने का कार्य कराये जाने के कदम उठाये जायेंगे।

आपदाग्रस्त क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार स्थायी बाढ़ राहत केन्द्रों का निर्माण कराया जायेगा।

 

यह भी पढ़ें -  सशक्त उत्तराखंड @25 चिंतन शिविर का शुभारंभ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया शुभारंभ विभागीय्र प्रक्रियाओं का सरलीकरण कर के समाधान का रास्ता निकलना है: सीएम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here