देहरादून से बड़ी खबर :मुख्यमंत्री धामी ने पुलिस महकमे के अफसरों को लगाई फटकार.. कहा अद्रीजा मंजरी प्रकरण पर हो निष्पक्ष जांच…देश के पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह की पोती अद्रीजा मंजरी सिंह ने की थी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात …

देहरादून से बड़ी खबर  :मुख्यमंत्री धामी ने  पुलिस महकमे के अफसरों को लगाई फटकार.. कहा अद्रीजा मंजरी प्रकरण पर हो निष्पक्ष जांच…देश के पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह  की पोती अद्रीजा मंजरी सिंह ने की थी मुख्यमंत्री पुष्कर  सिंह धामी से  मुलाकात … 

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से बड़ी खबर

 

पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह की पोती प्रकरण पर बड़ी खबर

 

कल शाम देश के पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह  की पोती अद्रीजा मंजरी सिंह ने की थी मुख्यमंत्री पुष्कर  सिंह धामी से  मुलाकात … 

 

 इस मुलाकात में अद्रीजा मंजरी ने मुख्यमंत्री धामी से मुलाकात कर  पुलिस की कार्यप्रणाली पर  उठाये  थे सवाल

 

 कहां मेरे प्रकरण पर  पुलिस ठीक से नहीं कर रही है काम…

 

 सूत्र के हवाले से खबर अद्रीजा मंजरी को सुनने के बाद  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने  डीजीपी से  सहित एसएसपी को लगाई फटकार…

कहां निष्पक्ष इस पूरे प्रकरण की की जाये जांच…

जिन धाराओं में मुकदमा दर्ज होना चाहिए वह धाराएं लगाई जाए ….

नियम अनुसार कानून जो कर सकता.. वह सभी  कदम उठाया जाए…

 सरकार चाहती है निष्पक्ष जांच

अद्रीजा मंजरी की सुरक्षा  प्रकरण पर भी उचित कार्रवाई हो…

वही आज एसएसपी देहरादून से मिलेगी अद्रीजा मंजरी

यह था पूरा प्रकरण

 

देश के पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह  की पोती अद्रीजा मंजरी सिंह  ने अपने ससुराल वालों पर मारपीट और घरेलू हिंसा का आरोप लगाया है। ये हाईप्रोफाइल मामला इन दिनों काफी सुर्खियां में है। अद्रीजा मंजरी सिंह  के पति अर्केश नारायण सिंह देव  ओडिशा के बलांगीर राजपरिवार से हैं। इनके परदादा राजेंद्र नारायण सिंह देव ओडिशा के मुख्यमंत्री भी रहे हैं। अर्केश नारायण  के भाई सांसद रहे हैं। इनका घर देहरादून में भी है, जहां महिला ने घरेलू हिंसा का आरोप लगाया है

पीड़िता अद्रीजा मंजरी सिंह  ने  उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार  को शिकायती पत्र दिया था .डीजीपी ने पूरे मामले की जांच एसएसपी देहरादून को दे दी है। अद्रीजा मंजरी सिंह ने पूरा मामला बताते हुए कहा कि 23 नवंबर 2017 को धूमधाम से उनकी शादी अर्केश के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही दोनों देहरादून के थाना क्षेत्र राजपुर स्थित बंगले में रहते हैं, लेकिन शादी के कुछ समय बाद से ही दोनों के बीच अनबन रहने लगी। मामला घरेलू हिंसा तक बढ़ गया।

 

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड:- मंत्री गणेश जोशी ने देहरादून में इन स्वास्थ्य केंद्रों को लेकर ये दिए निर्देश

अद्रीजा ने आरोप लगाया है कि कई बार थाना राजपुर पुलिस को शिकायत करने के बाद भी पुलिस ने उनकी मदद नहीं की। फिर 13 मई 2023 को मामला इतना बढ़ गया कि उनके पति ने कुछ महिलाओं को उन्हें जान से मारने की नीयत से घर भेजा। उन महिलाओं ने घर में घुसकर हमला किया, जिससे अद्रीजा घायल हो गईं और उनको इलाज के लिए अस्पताल जाना पड़ा।

 

दहेज उत्पीड़न का आरोप

 

अद्रीजा का आरोप है कि उनके पति और ससुराल वालों ने शादी के कुछ समय बाद से ही दहेज में करोड़ों रुपए की मांग की। इसको पूरा करने के लिए उनका मानसिक उत्पीड़न करना शुरू कर दिया था। सितंबर 2022 में पति अर्केश ने तलाक लेने के लिए कागज भेज दिए और उनको घर से बाहर निकालने की योजना बनाते रहे हैं। आरोप है कि वर्तमान में अद्रीजा की निगरानी के लिए घर पर  सीसीटीवी कैमरे लगवाए गए हैं और गार्ड सहित अन्य कर्मचारियों द्वारा महिला को तंग और परेशान किया जा रहा है।

 

पुलिस पर शिकायत दर्ज नहीं करने का आरोप

 

अद्रीजा मंजरी सिंह (Adrija Manjari Singh)   ने आगे बताया कि जनवरी 2022 में उनकी मां को कैंसर हुआ था। फिर भी उनके सास-ससुर ने ओडिशा पंचायत चुनाव के लिए प्रेशर डालकर उनको ओडिशा बुलवाया। सास-ससुर के कहने पर वो मां को छोड़कर पंचायत चुनाव के लिए वहां गईं। मार्च में फिर नगर निगम चुनाव के लिए ओडिशा गई थीं। अद्रीजा का कहना है कि उन्होंने पत्नी-बहू का कर्तव्य पूरा निभाया है। फिर 30 सितंबर 2022 को देहरादून वापस आकर अद्रीजा ने थाना राजपुर रोड में अपने सास ससुर, जेठ, जेठानी और पति के खिलाफ शिकायत की कि यह लोग उन्हें घर से बाहर निकालना चाहते हैं और ओडिशा में भी उनके प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, लेकिन थाना राजपुर रोड पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

 

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड :- राजधानी दून में कांग्रेस की प्रवक्ता की मौत की अफवाह से उठा पर्दा , प्रवक्ता ने खुद कहा मैं जिंदा हूँ

वहीं, अद्रीजा के पति अर्केश नारायण सिंह देव (Arkesh Narayan Singh Deo)  का कहना है कि उनको गलत फंसाया जा रहा है। अद्रीजा उनसे 100 करोड़ की डिमांड कर रही है। साथ ही वो ओडिशा से विधानसभा चुनाव में MLA का चुनाव लड़ने की बात कह रही है। वहीं, पति के आरोपों को दरकिनार करते हुए अद्रीजा ने सफाई दी है कि उन्होंने कभी भी चुनाव लड़ने के लिए टिकट की मांग नहीं की है। इसको लेकर ओडिशा के मुख्यमंत्री से भी पूछ सकते हैं।

अद्रीजा ने कहा कि उन्होंने केवल बलांगीर के लोगों की सेवा की है और तब तक सेवा की है जब तक ओडिशा में उनकी एंट्री बंद नहीं की गई। अद्रीजा की मांग है कि उनके पति सहित अन्य ससुराल वालों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत हो। इसके लिए आज पुलिस मुख्यालय में आकर उन्होंने डीजीपी को शिकायती पत्र दिया है। जिसके बाद डीजीपी ने पूरे मामले के जांच के आदेश देहरादून एसएसपी को दे दिए हैं..

 जिसके बाद विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जा चुका है ..

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here