पेपर लीक मामले में चंदौली का नकल माफिया गिरफ्तार, 35 अभ्यर्थियों को याद कराए थे प्रश्नों के उत्तर

28 अगस्त

पेपर लीक मामले में चंदौली का नकल माफिया गिरफ्तार, 35 अभ्यर्थियों को याद कराए थे प्रश्नों के उत्तर

 

एसटीएफ टीम द्वारा नैनीताल के डिंगता रिजॉर्ट धनाचूली बैंड में नकल कराए गए 35 छात्रों को चिन्हित किया था। आरोपी ने अपने खुद के चार ऑनलाइन परीक्षा केंद्र हल्द्वानी, अल्मोड़ा, चंपावत और पिथौरागढ़ में खोले हुए हैं।

 

 

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की स्नातक स्तरीय परीक्षा के पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने उत्तर प्रदेश के एक और नकल माफिया को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने नैनीताल के एक रिजॉर्ट में 35 अभ्यर्थियों को प्रश्नों के उत्तर याद कराए थे। एसटीएफ ने इन छात्रों को चिह्नित कर लिया है। आरोपी के खिलाफ वर्ष 2013 में सीटीईटी परीक्षा में नकल कराने के मामले में भी हल्द्वानी में मुकदमा दर्ज है।

 

 

पेपर लीक मामले में मास्टरमाइंड आरएमएस टेक्नो सॉल्यूशन लिमिटेड के मालिक राजेेश चौहान की गिरफ्तारी के बाद एक और नकल माफिया शशिकांत निवासी चंदौली, उत्तर प्रदेश, हाल निवासी हल्द्वानी एसटीएफ के हत्थे चढ़ गया। मामले में यह 27वीं गिरफ्तारी है। एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि आरोपी ने नैनीताल स्थित एक रिजॉर्ट में 35 अभ्यर्थियों को नकल कराई थी।

पास ही स्थित एक और रिजॉर्ट में कुछ अभ्यर्थियों को प्रश्नों के उत्तर याद कराए गए थे। एसटीएफ रिजॉर्ट से रिकॉर्ड लेकर परीक्षण कर रही है। इनमें से कई अभ्यर्थी परीक्षा पास नहीं कर पाए। उनको भी एसटीएफ चिह्नित कर रही है। आरोपी से पूछताछ अन्य रिजॉर्ट के बारे में भी जानकारी मिली है। एसएसपी ने बताया कि फिलहाल 35 छात्रों को चिह्नित किया गया है, लेकिन छात्रों की संख्या 60 से अधिक पहुंच सकती है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में प्रियंका गांधी ने जारी किया कांग्रेस का घोषणापत्र, सरकार बनी तो ₹ 500 में मिलेगा LPG सिलेंडर,जाने एक नजर में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here