सीधी बात : भाई डॉक्टरों का सर फोड़ोगे तो .. अभी तो एक दिन के लिए ओपीडी सेवाएं ठप रही ,भविष्य में कोई भी पहाड़ में अपनी सेवाएं देने से बचेगा ओर परेशान होगी सिर्फ पहाड़ की जनता

 

सीधी बात : भाई डॉक्टरों का सर फोड़ोगे तो .. अभी तो एक दिन के लिए ओपीडी सेवाएं ठप रही ,भविष्य में कोई भी पहाड़ में अपनी सेवाएं देने से बचेगा ओर परेशान होगी सिर्फ पहाड़ की जनता

 

पौड़ी : आपको बता दे की पौड़ी शहर के एक पेइंग गेस्ट हाउस में रह रहे जिला चिकित्सालय में तैनात कुछ डाक्टरों के साथ मारपीट के विरोध में बुधवार को अस्पताल में ओपीडी का संचालन नहीं हुआ, जिससे अस्पताल पहुंचे मरीजों को खासी परेशानियां हुई

जैसा कि हम जानते ही है की पौड़ी जिला अस्पताल पीपीपी मोड में संचालित हो रहा है। इस अस्पताल का जिम्मा सरकार ने अपने सहयोगी श्री महंत इंद्रेश हास्पिटल को सौंपा हुआ है। बीते शनिवार को पीजी संचालक व उसके साथियों ने किसी बात को लेकर डाक्टरों की पिटाई कर दी थी। डाक्टरों की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने पेइंग गेस्ट संचालक व आठ अन्य के विरुद्ध मुकदमा भी दर्ज किया। बुधवार को डाक्टरों के साथ मारपीट के विरोध में जिला अस्पताल की ओपीडी बंद रही। हालांकि इस दौरान आपातकालीन सेवाएं खुली रही। अस्पताल प्रबंधन ने मेन गेट पर ओपीडी बंद की सूचना भी चस्पा की हुई थी। चिकित्सालय के एमएस डा. पीके जैन के मुताबिक डाक्टरों ने मारपीट मामले में अपना विरोध दर्ज करवाया है, जिस कारण डाक्टर ओपीडी में नहीं बैठे। डा. जैन के मुताबिक डाक्टरों के ठहरने के लिए एक हास्टल किराये पर लिया गया था। डाक्टरों के साथ मारपीट की घटना के बाद हास्टल को भी खाली कर दिया गया। वही इस घटना को लेकर सीएमओ और जिलाधिकारी को भी अवगत करा दिया गया है।

यह भी पढ़ें -  उतराखंड : देहरादून में डेंगू का डंक, बढ़ने लगे मामले


आज फिर से सभी सेवाएं पहले जैसे संचालित हो जाएगी

श्रीनगर गढ़वाल से भी जानकारी आई है कि संयुक्त चिकित्सक संगठन ने पौड़ी जिला अस्पताल के डाक्टरों के साथ हुई हिसक घटना का घोर विरोध किया है। सरकारी और गैर सरकारी चिकित्सकों के संयुक्त चिकित्सक संगठन की बैठक को संबोधित करते हुए संगठन के संरक्षक डा. बीपी नैथानी ने जिलाधिकारी और सीएमओ पौड़ी से इस हिसक घटना की निष्पक्ष जांच करने और दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की है। इस दौरान संगठन के अध्यक्ष और वरिष्ठ सर्जन डा. एमएन गैरोला, महामंत्री डा. हरीश भट्ट, कोषाध्यक्ष डा. केके गुप्ता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here