मुख्यमंत्री धामी ने किया था देश के अन्य राज्यों में भाजपा के लिए प्रचार उनमे से 26 सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों ने की जीत दर्ज और दस निर्वाचित सांसदों को मोदी मंत्रिमंडल में मिली जगह मतलब चुनावों में धामी का स्ट्राइक रेट शत प्रतिशत रहा

जिनके प्रचार में मुख्यमंत्री धामी गए, वे ज्यादातर मोदी 3.0 में मंत्री बन गए पढ़े हमारी ये खास रिपोर्ट…

देश की जिन लोकसभा सीटों पर मुख्यमंत्री धामी ने चुनाव प्रचार में भाग लिया था, उनमें जीते कई सांसद इस बार मोदी मंत्रिमंडल में जगह पाने में कामयाब रहे…

 

धामी ने जिनके लिए किया था ताबड़तोड़ प्रचार उनमे से दस निर्वाचित सांसदों को मोदी मंत्रिमंडल में मिली जगह

 

धामी ने अन्य राज्यों में जहा चुनाव प्रचार में लिया था भाग , उनमें जीते 26 सांसद और धामी का सियासी कद और ऊंचा

मुख्यमंत्री धामी ने उत्तराखंड सहित अन्य राज्यों में स्टार प्रचारक के रूप में ताबड़तोड़ भाजपा प्रत्याशियों के लिए किया था प्रचार उनमे से 26 सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों ने की जीत दर्ज और दस निर्वाचित सांसदों को मोदी मंत्रिमंडल में मिली जगह…

 

रिजल्ट ये रहा कि चुनावों में धामी का स्ट्राइक रेट शत प्रतिशत रहा और भाजपा हाई कमान ने धामी से जो उम्मीद करी थी उस पर धामी खरे उतरे

मुख्यमंत्री धामी ने किया था देश के अन्य राज्यों में भाजपा के लिए प्रचार उनमे से 26 सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों ने की जीत दर्ज और दस निर्वाचित सांसदों को मोदी मंत्रिमंडल में मिली जगह मतलब चुनावों में धामी का स्ट्राइक रेट शत प्रतिशत रहा

युवा मुख्यमंत्री धामी के कुछ समय में किए महत्वपूर्ण फैसलों और जनहित से जुड़ी योजनाओं की वजह से राष्ट्रीय स्तर पर धामी की छवि उभरी, जिसका लाभ भी भाजपा को लोकसभा चुनाव में मिला

 

 

मोदी 3.0 के केंद्रीय मंत्रिमंडल के साथ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एक संयोग भी जुड़ा है..देश की जिन लोकसभा सीटों पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चुनाव प्रचार में भाग लिया था, उनमें जीते कई सांसद इस बार केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह पाने में कामयाब रहे। इनमें एक पंजाब की लुधियाना सीट से रवनीत सिंह बिट्टू भी हैं, जिनके लिए सीएम धामी ने प्रचार किया, उन्हें भी इस बार मंत्रिमंडल में जगह मिली है चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री धामी ने उत्तराखंड में भाजपा प्रत्याशियों के साथ ही उत्तर प्रदेश, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, महराष्ट्र और तेलंगाना की सीटों पर स्टार प्रचारक के रूप में ताबड़तोड़ प्रचार में भाग लिया था। इनमें 26 सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की और दस निर्वाचित सांसदों को मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिली है
आइये आपको बताते हैं मुख्यमंत्री धामी ने जिन सीटों पर ताबड़तोड़ भाजपा प्रत्याशी के लिए प्रचार प्रसार किया था उन नौ सांसदो को मोदी 3.0 में जगह मिली है..

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में सेब उत्पादन की अपार संभावनाएंः डा0 धन सिंह रावत

उत्तराखंड की अल्मोड़ा लोकसभा सीट से अजय टम्टा को मोदी 3.0 में जगह मिली है… मुख्यमंत्री धामी ने… टम्टा कि जीत के लिए दिन रात ताबड़तोड़ प्रचार प्रसार किया था…साथ हीं मोदी धामी सरकार द्वारा किया गये क्षेत्र के लिए विकास कार्य से भी क्षेत्र की जनता खुश है..
मुख्यमंत्री धामी ने पीलीभीत से जितिन प्रसाद पीलीभीत ताबड़तोड़ प्रचार किया मुख्यमंत्री धामी ने लखनऊ से भाजपा प्रत्याशी राजनाथ सिंह के पहले नामांकन में शामिल हुए… और फिर मुख्यमंत्री धामी ने लखनऊ में… राजनाथ सिंह के लिए ताबड़तोड़ प्रचार प्रसार किया था… लखनऊ से मुख्यमंत्री धामी का दिल का रिश्ता है… और लखनऊ की जनता भी धामी को बेहद पसंद करती है..

मुख्यमंत्री धामी ने ईस्ट दिल्ली से हर्ष मल्होत्रा के लिए भी प्रचार प्रसार करते हुए खूब पसीना बाहया..

मुख्यमंत्री धामी ने फरीदाबाद से कृष्ण पाल की जनसभा वह रोड शो किए थे

धामी ने करनाल से मनोहरलाल खट्टर के लिए जनसभाएं… वह रोड शो किये
इसके साथी धामी ने गुड़गांव से राव इंद्रजीत सिंह और मुंबई नार्थ से पीयूष गोयल के लिए प्रचार प्रसार करते हुए जनता से वोट मांगे थे

तों सिकंदराबाद से जी. किशन रेड्डी अकेली भी मुख्यमंत्री धामी ने ताबड़तोड़ प्रचार किया था..

कुल मिलकर भाजपा हाईकमान ने पिछले कुछ समय में हुए विभिन्न राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव हो या अब लोकसभा चुनाव में धामी को जो स्टार प्रचारक के रूप में भेजा था.. उसका रिजलट ये रहा कि चुनावों में धामी का स्ट्राइक रेट शत प्रतिशत रहा.. और भाजपा हाई कमान ने धामी से जो उम्मीद करी थी उस पर धामी खरे उतरे..
इससे पहले राजस्थान और एमपी की जिन विधानसभा क्षेत्रों में भी धामी ने प्रचार किया था, उनमें भाजपा के प्रत्याशियों ने बड़े अंतर के साथ जीत हासिल की थी..

यह भी पढ़ें -  बड़ी ख़बर उत्तराखंड में जल्द लागू होगा यूसीसी

युवा मुख्यमंत्री धामी के कुछ समय में किए महत्वपूर्ण फैसलों और जनहित से जुड़ी योजनाओं की वजह से राष्ट्रीय स्तर पर धामी की छवि उभरी है। समान नागरिक संहिता, नकल विरोधी कड़ा कानून, जबरन धर्मपरिवर्तन पर सख्ती से रोक, अतिक्रमण के खिलाफ सख्त अभियान ने धामी की छवि दृढ़ प्रशासक के रूप में मजबूत की है.
वहीं, गरीबों को मुफ्त गैस सिलेंडर, मेधावी छात्रों के लिए छात्रवृत्ति योजना समेत कई कल्याणकारी योजनाओं ने भी धामी का सियासी कद और ऊंचा किया है…. जो पूरे उत्तराखंड के लिए.भी गर्व की बात है….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here