धामी ने टनल की खुदाई में अहम भूमिका निभाने वाले 12 रैट माइनर्स को शॉल ओढ़ाकर किया सम्मानित, रैट माइनर्स को 50-50 हजार रूपये के सम्मान राशि के चेक भी प्रदान किये

धामी ने टनल की खुदाई में अहम भूमिका निभाने वाले 12 रैट माइनर्स को शॉल ओढ़ाकर किया सम्मानित, रैट माइनर्स को 50-50 हजार रूपये के सम्मान राशि के चेक भी प्रदान किये

धामी जी ने रैट माइनर्स को 50-50 हजार रूपये के सम्मान राशि के चेक प्रदान किये

सिलक्यारा रेस्क्यू ऑपरेशन में टनल की खुदाई में अहम भूमिका निभाने वाले 12 रैट माइनर्स को 50-50 हजार रूपये के सम्मान राशि के चेक मुख्यमंत्री धामी ने प्रदान किया

टनल में खुदाई, सफाई और पाइप को काटने का कार्य करने वाले रैट माइनर्स को 50-50 हजार रूपये के सम्मान राशि का चेक मुख्यमंत्री धामी ने दिया

सिलक्यारा रेस्क्यू ऑपरेशन को सफलता तक पहुंचाने में रैट माइनर्स का बहुत बड़ा योगदान, धामी जी ने किया उनका सम्मान

मेहनत को सलाम और सम्मान दोनों एक साथ : रैट माइनर्स को 50-50 हजार रूपये के सम्मान राशि का चेक मुख्यमंत्री धामी ने प्रदान किया

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज मुख्यमंत्री आवास में उत्तरकाशी के सिलक्यारा रेस्क्यू ऑपरेशन में टनल की खुदाई में अहम भूमिका निभाने वाले 12 रैट माइनर्स को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया और सभी रैट माइनर्स को 50-50 हजार रूपये के सम्मान राशि के चेक भी प्रदान किये

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि रैट माइनर्स ने अपनी जान की परवाह किये बिना कठिन परिस्थितयों में टनल में खुदाई, सफाई और पाइप को काटने का कार्य किया। सिलक्यारा रेस्क्यू ऑपरेशन को सफलता तक पहुंचाने में रैट माइनर्स का बहुत बड़ा योगदान रहा। उन्होंने कहा कि जिस लगन और परिश्रम से हमारे रैट माइनर्स ने इस रैस्क्यू अभियान को सफल बनाने में अन्य एजेंसियों के साथ योगदान दिया, इसके लिए सभी रैट माइनर्स बधाई और आशीर्वाद के पात्र हैं। मुख्यमंत्री ने सिलक्यारा रेस्क्यू अभियान में योगदान देने वाले सभी लोगों का भी प्रदेश की जनता की ओर से आभार व्यक्त किया।

यह भी पढ़ें -  अच्छा फैसला : उत्तरकाशी का जादों गांव वाइब्रेंट विलेज की सूची में वहां के मूल निवासी के लिए होम स्टे की विशेष योजना,सरकारी मदद मिलेगी। 100% तक फंडिंग...

सिलक्यारा रेस्क्यू ऑपरेशन में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले रैट माइनर्स ने राज्य में स्वागत और सम्मान होने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सुरंग में फंसे 41 लोगों की जान बचाने के लिए विभिन्न एजेंसियों के साथ उन्हें भी अपना योगदान देने का अवसर मिला, यह उनके लिए गर्व की बात है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here