श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में नवरंग डांडिया का रंगारंग कार्यक्रम आयोजित

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में नवरंग डांडिया का रंगारंग कार्यक्रम आयोजित

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में
गुजराती बंगाली व पहाड़ी संस्कृति से माॅ दुर्गा का हुआ गुणगान

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में
गरबा, डांडिया व पहाड़ी मंडाण की मधुर धुनों पर जमकर थिरके छात्र-छात्राएं व फेकल्टी सदस्य

 

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में
बंगाली, गुजराती व पहाड़ी व्यंजन भी रहे कार्यक्रम के साथ आकर्षण का केन्द्र

 

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में शनिवार को नवरंग डांडिया-2023 की धूम रही। छात्र-छात्राओं ने नवरात्र की पावन बेला पर माता रानी के विभिन्न स्वरूपों का गुणगान किया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं व फैकल्टी सदस्यों ने गरबा व डांडिया नृत्य का जमकर लुत्फ उठाया। तेज रोशनी से नहाए जगमग पांडाल में एक और गरबा तो दूसरी ओर पंजाबी, गुजराती बंगाली सहित पहाड़ी पकवान दर्शकों के लिए आकर्षण का विशेष केन्द्र रहे।

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने सभी प्रदेशवासियों व देशवासियों को शारदीय नवरात्र की हार्दिक शुभकामनाएं दीं।

शनिवार शाम को श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल एंड हैल्थ साइंसेज के खेल मैदान में नवरंग डांडिया-2023 का शुभारंभ विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ यशबीर दीवान, कुलसचिव डाॅ अजय कुमार खण्डूड़ी, विश्वविद्यालय समन्वयक डाॅ आर.पी.सिंह व विश्वविद्यालय के कुलानुशासक एवम् प्रवक्ता मनोज तिवारी ने संयुक्त रूप से किया।

विश्वविद्यालय के स्टूडेंट काउंसिल की ओर से आयोजित डांडिया-2023 का शुभारंभ गणेश वंदना व दुर्गा पूजा के साथ हुआ। इसके बाद गरबा, डांडिया नृत्य ने पांडाल में मस्ती का माहौल बना दिया। द्रोणा बैंड की प्रस्तुतियों व सधे हुए गीतों और म्यूजिक की जुगलबंदी का सुरूर छात्र-छात्राओं पर छाया रहा।

विश्वविद्यालय के कुलसचिव डाॅ अजय कुमार खण्डूड़ी ने कहा कि धार्मिक मान्यताओं के अनुसार नवरात्र में डांडिया का विशेष महत्व है। डांडिया के माध्यम से हम सभी में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। उन्होंने नवरंग डांडिया-2023 के आयोजनकर्ताओं व विश्वविद्यालय की स्टूडेंट काउंसिल का उत्साहवर्धन किया व उन्हें सफल आयोजन की बधाई दी।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय समन्वयक डाॅ आर.पी.सिंह, विश्वविद्यालय के कुलानुशासक एवम् प्रवक्ता मनोज तिवारी,
आईक्यूएसी निदेशक प्रोफेसर सुमन बिज, डीन अकादमिक डॉ कुमुद सकलानी, मुख्य परीक्षा नियंत्रक प्रोफेसर संजय शर्मा, डीन रिसर्च डॉ लोकेश गंभीर, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी मनोज गहलोत, डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रोफेसर कंचन जोशी के साथ विश्वविद्यालय के सभी स्कूलों के डीन, विभागाध्यक्ष, शिक्षकगण समेत हजारों छात्र मौजूद रहे |

यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को थानो, कुमाल्डा एवं उसके आसपास के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने कमिश्नर गढ़वाल एवं जिलाधिकारी टिहरी को निर्देश दिए कि आपदा प्रभावित क्षेत्र के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाएं। उनके लिए भोजन एवं अन्य आवश्यक सामग्री की पर्याप्त व्यवस्था की जाय।


उत्तराखंड की ताजा खबरें पढ़ने के लिए हमसे जुड़ें


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here