सीएम धामी के निर्देश पर पौड़ी पहुंचे सचिव सुंदरम चौपाल लगा कर लोगों की जन समस्याएं सुनी, संबंधित अधिकारियों को स्थानीय ग्रामीणों द्वारा उठाए गए विभिन्न बिंदुओं पर कार्रवाई करने के दिए निर्देश

सीएम  धामी के निर्देश पर पौड़ी पहुंचे सचिव  सुंदरम  चौपाल लगा कर लोगों की जन समस्याएं सुनी, संबंधित अधिकारियों को स्थानीय ग्रामीणों द्वारा उठाए गए विभिन्न बिंदुओं पर कार्रवाई करने के  दिए निर्देश

चौपाल में जो समस्याएं ग्रामीणों द्वारा उठाई गई उसका तत्काल निस्तारण करें-  सचिव 

 

सीएम पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर पौड़ी गढ़वाल जिले के भ्रमण पर पहुंचे सचिव श्री आर मीनाक्षी सुंदरम

 

 *‘‘राजकीय प्राथमिक विद्यालय सारीमल्ली  में आयोजित हुआ रात्रि चौपाल।‘‘*

 

सीएम पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर पौड़ी गढ़वाल जिले के भ्रमण पर पहुंचे सचिव मुख्य्मंत्री,  ऊर्जा एवं वेकल्पिक ऊर्जा, श्रम एवं नियोजन विभाग श्री आर  मीनाक्षी सुंदरम  ने जयहरीखाल  के अंतर्गत गुरुबार को  राजकीय प्राथमिक विद्यालय सारीमल्ली  में रात्रि चौपाल आयोजित कर लोगों की जन समस्याएं सुनी तथा संबंधित अधिकारियों को स्थानीय ग्रामीणों द्वारा उठाए गए विभिन्न बिंदुओं पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। सचिव  के चौपाल में पहुंचते ही ग्रामीण काफी उत्सुक नजर दिखे। इस दौरान ग्रामीणों ने सचिव का गाँव में पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया।  चौपाल में ग्रामीणों द्वारा सड़के ,  विद्युत सप्लाई, स्वास्थ्य, दुग्ध,  शिक्षा संबंधित समस्याएँ रखी 

      रात्रि चौपाल में  सचिव ने कहा कि इस तरह की चौपाल / बहुद्देशीय शिविरों के  समस्याओं का समाधान पूर्व में भी किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि विकास के कार्य होना जरूरी है , जिससे क्षेत्र की कई समस्याओं का समाधान होता है। कहा कि जयहरीखाल व  लैंसडौन क्षेत्र में पर्यटन  काफी तेजी से बढ़ रहा है और यहां अच्छे होमस्टे व होटल बन चुके हैं। उन्होंने संबंधित अधिकारी को  निर्देशित किया कि क्षेत्र  में  स्थान चयनित कर  पॉकेट पार्किंग बनाएं। उन्होंने कहा कि जयहरीखाल  में भी डेहरी ग्रोथ सेंटर बनाया जा रहा है,  जिससे स्थानीय लोगों को दुग्ध  लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि पहाड़ी क्षेत्र में घी, लेमनग्रास में बेहतर संभावनाएं हैं, इसके साथ ही एप्पल मिशन के अंतर्गत छोटे-छोटे कलस्टर बनाए जा रहे हैं।

    सचिव ने समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि चौपाल में उठाई गई समस्याओं का त्वरित निस्तारण करना सुनिश्चित करें। 

        इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पाण्डे,  उपजिलाधिकारी लेंसडाउन सोहन सिंह , ब्लॉक प्रमुख जयहरीखाल दीपक भंडारी, जिला विकास अधिकारी मनविन्दर कौर,   मुख्य कृषि अधिकारी अमरेंद्र चौधरी, मुख्य शिक्षधिकारी आनंद भारद्वाज, अधिशासी अभियंता लोनिवि पीएस बिष्ट, स्वजल अधिकारी दीपक रावत, सेवायोजन अधिकारी ममता चौहान नेगी, ग्राम प्रधान सारीमल्ली नीतू रावत सहित अन्य अधिकारी व ग्रामीण उपस्थित थे। 

 

यह भी पढ़ें -  महाराज ने अस्पताल जाकर केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का हालचाल जाना

इससे पहली सचिव, मुख्यमंत्री, ऊर्जा एवं वैकल्पिक ऊर्जा, श्रम एवं नियोजन विभाग मीनाक्षी सुन्दरम ने  विकासखण्ड सभागार जयहरीखाल में जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ विकास योजनाओं की समीक्षा बैठक की। जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने सचिव को प्रेजेंटेशन के माध्यम से विभागवार योजनाओं की जानकारी दी। सचिव ने समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि विकास कार्यों को तेजी से पूर्ण करना सुनिश्चित करें।

       बैठक में जिला प्रशासन द्वारा जनपद के मुख्य मुद्दों तथा लम्बित कार्यों की ओर ध्यान आकर्षित किया गया जिन पर शासन से वित्तिय अथवा अन्य स्वीकृति अनुमोदन हेतु अपेक्षित है। पौड़ी जनपद के मुख्य मुद्दों में जनपद के पौड़ी शहर में सीवरेज लाइन स्थापना, यमकेश्वर के अंतर्गत राजाजी नेशनल पार्क से सटी बस्तियों में सोलर विद्युतीकरण, आय प्रमाण पत्र, राशन कार्ड तथा अन्य सरकारी योजनाओं से स्थानीय लोगों को लाभान्वित करने, विकासखंड यमकेश्वर के अमोला क्षेत्र व कोटद्वार से सटे कालागढ़ क्षेत्र में एक -एक 108 चिकित्सा वाहन  उपलब्ध करवाने इत्यादि में शासन स्तर के वित्तिय तथा इस संबंध में अग्रिम अनुमोदन हेतु सचिव के संज्ञान में लाया गया।

      इसके अतिरिक्त सचिव महोदय के संज्ञान में जनपद के लम्बित मुद्दों, सिंगटाली मोटर सेतु निर्माण, बड़खोलू मोटर सेतु निर्माण, ल्वाली झील निर्माण कार्य तथा जनपद में विभिन्न सड़कों के निर्माण, डामरीकरण व सुधारीकरण से संबंधित लम्बित मुद्दों को भी साझा किया।

सचिव ने  मुख्य शिक्षा अधिकारी को जनपद अटल उत्कृष्ट स्कूलों के परीक्षा परिणाम व अन्य स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करने के निर्देश दिये। उन्होंने आशा और आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के मध्य बेहतर समन्वय बनाने पर जोर दिया ताकि एनआरएचएम तथा शिक्षा विभाग के बाल पोषण और संरक्षण से संबंधित कार्यक्रम व योजनाऐं बेहतर तरीके से क्रियान्वित किया जा सके। उन्होंने उद्यान अधिकारी को निर्देशित किया कि पॉली हाउस लगाने के साथ ही किसानों को ट्रेनिंग, बीज व पौध उपलब्ध कराएं जिससे पॉलीहाउस का सही से क्रियान्वयन हो सके। उन्होंने जनपद में हर्बल मेडिसन से संबंधित कार्यों को बढ़ावा देने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला  विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि बनाये गए अमृत सरोवरों में कुछ को मॉडल के रुप में विकसित करें तथा उनमें मत्स्य बीज डाले।

 

यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री धामी ने केन्द्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव से भेट कर किया अनुरोध.. केंद्रीय मंत्री उचित कार्यवाही करने का दिया आश्वासन.. पढ़िए यह रिपोर्ट..

   जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने सचिव को प्रस्तावित ट्राइडेंट  पार्क, श्रीनगर गंगा दर्शन  व पौड़ी में 100 फिट ऊँचा तिरंगा झंडा, कोटद्वार में बर्ड इंटरप्रिटेंशन सेंटर, पौड़ी में मांउटेन म्यूजियम, देवप्रयाग में गंगा म्यूजियम, बिपिन सिंह रावत मेमोरियल, गंगा पदयात्रा मार्ग निर्माण आदि प्रस्तावित कार्यों से अवगत कराया। उन्होंने समस्त अधिकारीयों को निर्देशित किया कि बैठक में सचिव महोदय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें।

 

     बैठक में होटल एसोसिएशन अध्यक्ष लेंसडाउन ने सचिव से लेंसडाउन क्षेत्र में होटल व्यवसायियों को मूलभूत सुविधाओं जैसे पानी, सिवरेज, पार्किंग, मसूरी एक्सप्रेस को कोटद्वार तक पुनः चलाने आदि की समस्याओं से अवगत कराया।  सचिव ने होटल कारोबारियों की समस्याओं का संज्ञान लेते हुए आश्वस्त किया कि समस्याओं का निराकरण किया जाएगा।

 

    बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पांडे, डीडीओ मनविन्दर कौर, अधीक्षण अभियंता लोनिवि बृजवाल, अधीक्षण अभियंता जल निगम मोहम्मद मिसम,  मुख्य शिक्षाधिकारी डॉ आनंद भारद्वाज, मुख्य कृषि अधिकारी अमरेंद्र चौधरी, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी देवेंद्र बिष्ट, अर्थ एवं संख्या अधिकारी राम सलोने, सीटीओ गिरीश चन्द्र, उप जिलाधिकारी सोहन सिंह, होटल एसोसिएशन लैंसडौन अध्यक्ष कर्नल पीसी शर्मा सहित संबंधित अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here