जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अपील श्री केदारनाथ धाम में साफ-सफाई व स्वच्छता का रखे विशेष ध्यान…. और दिए यह दिशा निर्देश

जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अपील

श्री केदारनाथ धाम में साफ-सफाई व स्वच्छता का रखे विशेष ध्यान….  और दिए यह दिशा निर्देश

 

 

 

 

श्री केदारनाथ धाम में साफ-सफाई व स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने व निरंतर साफ-सफाई व्यवस्था के लिए जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने नगर पंचायत केदारनाथ एवं सुलभ इंटरनेशनल के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। जिससे कि धाम में स्वच्छता बनी रहे।

जिलाधिकारी के निर्देशों के अनुपालन में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के उचित निस्तारण हेतु सहायक निदेशक शहरी विकास विनोद कुमार की अध्यक्षता में व्यापार संस्था, केदारसभा व व्यापारियों के साथ बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सहायक निदेशक शहरी विकास द्वारा स्वच्छ भारत मिशन, साॅलिड वेस्ट मैनेजमेंट रूल्स 2016, प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट रूल में नागरिकों के निर्धारित कर्तव्य एवं कूड़ा फेंकना एवं थूकना प्रतिषेध अधिनियम 2016 के विषय की जानकारी दी गई साथ ही सभी से आग्रह किया गया कि स्वच्छता में अपना सहयोग प्रदान करें, बैठक में सर्व सहमति से निर्णय लिया गया कि सभी व्यापारी अपने व्यापारिक अधिष्ठान में कूड़ा दान रखेंगे सारा कूड़ा कूड़ेदान में ही डालेंगे तथा समस्त श्रद्धालुओं को भी कूड़ेदान में कूड़ा डालने हेतु प्रेरित करेंगे। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि 30 अप्रैल 2023 को केदार सभा एवं व्यापार संस्था व नगर पंचायत की संयुक्त टीम द्वारा एक स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा।

बैठक में अध्यक्ष व्यापार संस्था चंडी प्रसाद तिवारी, अध्यक्ष केदारसभा राजकुमार तिवारी, मुकेश कुमार, रिसाइकिल कंपनी के सदस्य आशीष कुमार, हिमानी, नगर पंचायत केदारनाथ से मुकेश कुमार, अनिल कुमार एवं अन्य व्यापारीगण उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें -  स्वास्थ्य मंत्री ने एनएचएम कार्मियों को वेतन न मिलने पर जताई नाराजगी *एनएचएम के तहत शत-प्रतिशत खर्च करें धनराशिः डॉ0 धन सिंह रावत

उन्होंने यह भी अवगत कराया है कि केदारनाथ धाम में प्लास्टिक रैपर एवं प्लास्टिक की बोतल को ग्राहकों को वापस करने के लिए रिसाइकिल संस्था एवं जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयास से चलाए जा रहे अभियान के तहत पानी की बोतल एवं अन्य मल्टीलेयर प्लास्टिक की पैकिंग वाली सामग्री पर बार कोड लगाए जाने के लिए बार कोड वितरित किए जाने का अभियान चलाया जा रहा है जिसमें ग्राहक द्वारा 10 रुपए अतिरिक्त अदा किया जाएगा। बोतल पर चिन्हित स्थान पर वापस करने एवं बार कोड स्कैन करने पर 10 रुपए वापस उपलब्ध कराए जाएंगे। जिसके लिए आज लगभग 2 हजार बार कोड व्यापारियों को वितरित किए गए हैं और सभी से आग्रह किया गया है कि सभी लोग यह बार कोड लगाकर ही अपनी पानी की बोतल व अन्य पेय की बोतलें बेचें जिससे कि केदारनाथ धाम एवं यात्रा मार्ग में साफ-सफाई एवं स्वच्छ वातावरण बना रहे

जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अपील
श्री केदारनाथ धाम में साफ-सफाई व स्वच्छता का रखे विशेष ध्यान…. और दिए यह दिशा निर्देश

 

 

श्री केदारनाथ धाम में साफ-सफाई व स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने व निरंतर साफ-सफाई व्यवस्था के लिए जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने नगर पंचायत केदारनाथ एवं सुलभ इंटरनेशनल के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। जिससे कि धाम में स्वच्छता बनी रहे।
जिलाधिकारी के निर्देशों के अनुपालन में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के उचित निस्तारण हेतु सहायक निदेशक शहरी विकास विनोद कुमार की अध्यक्षता में व्यापार संस्था, केदारसभा व व्यापारियों के साथ बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सहायक निदेशक शहरी विकास द्वारा स्वच्छ भारत मिशन, साॅलिड वेस्ट मैनेजमेंट रूल्स 2016, प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट रूल में नागरिकों के निर्धारित कर्तव्य एवं कूड़ा फेंकना एवं थूकना प्रतिषेध अधिनियम 2016 के विषय की जानकारी दी गई साथ ही सभी से आग्रह किया गया कि स्वच्छता में अपना सहयोग प्रदान करें, बैठक में सर्व सहमति से निर्णय लिया गया कि सभी व्यापारी अपने व्यापारिक अधिष्ठान में कूड़ा दान रखेंगे सारा कूड़ा कूड़ेदान में ही डालेंगे तथा समस्त श्रद्धालुओं को भी कूड़ेदान में कूड़ा डालने हेतु प्रेरित करेंगे। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि 30 अप्रैल 2023 को केदार सभा एवं व्यापार संस्था व नगर पंचायत की संयुक्त टीम द्वारा एक स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा।
बैठक में अध्यक्ष व्यापार संस्था चंडी प्रसाद तिवारी, अध्यक्ष केदारसभा राजकुमार तिवारी, मुकेश कुमार, रिसाइकिल कंपनी के सदस्य आशीष कुमार, हिमानी, नगर पंचायत केदारनाथ से मुकेश कुमार, अनिल कुमार एवं अन्य व्यापारीगण उपस्थित रहे।
उन्होंने यह भी अवगत कराया है कि केदारनाथ धाम में प्लास्टिक रैपर एवं प्लास्टिक की बोतल को ग्राहकों को वापस करने के लिए रिसाइकिल संस्था एवं जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयास से चलाए जा रहे अभियान के तहत पानी की बोतल एवं अन्य मल्टीलेयर प्लास्टिक की पैकिंग वाली सामग्री पर बार कोड लगाए जाने के लिए बार कोड वितरित किए जाने का अभियान चलाया जा रहा है जिसमें ग्राहक द्वारा 10 रुपए अतिरिक्त अदा किया जाएगा। बोतल पर चिन्हित स्थान पर वापस करने एवं बार कोड स्कैन करने पर 10 रुपए वापस उपलब्ध कराए जाएंगे। जिसके लिए आज लगभग 2 हजार बार कोड व्यापारियों को वितरित किए गए हैं और सभी से आग्रह किया गया है कि सभी लोग यह बार कोड लगाकर ही अपनी पानी की बोतल व अन्य पेय की बोतलें बेचें जिससे कि केदारनाथ धाम एवं यात्रा मार्ग में साफ-सफाई एवं स्वच्छ वातावरण बना रहे

यह भी पढ़ें -  अटल आयुष्मान योजना के तहत सरकारी अस्पतालों में डायलसिस सेंटर पर 100 प्रतिषत प्रतिपूर्ति देगी धामी सरकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here