उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूकेएसएसएससी) के पेपर लीक मामले में पुलिस ने काशीपुर से पकड़े गए नेटवर्क से जुड़े कनिष्ठ सहायक महेंद्र चौहान को सीजेएम कोर्ट नैनीताल से गिरफ्तार किया है

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूकेएसएसएससी) के पेपर लीक मामले में पुलिस ने अब तक 12 लोगों को किया गिरफ्तार ( धामी को भ्रष्टाचार पसंद नहीं )

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूकेएसएसएससी) के पेपर लीक मामले में पुलिस ने काशीपुर से पकड़े गए नेटवर्क से जुड़े कनिष्ठ सहायक महेंद्र चौहान को सीजेएम कोर्ट नैनीताल से गिरफ्तार किया है। पेपर लीक मामले में एसटीएफ एक सप्ताह के भीतर 12 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। कड़ियों को जोड़ते हुए एसटीएफ और भी गिरफ्तारियां कर सकती है। एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि पिछले दिनों आरोपियों से पूछताछ और साक्ष्यों के आधार पर कुमाऊं क्षेत्र में जांच हो रही है। टीम ने वहां डेरा डाला हुआ है।
अब पास हुए अभ्यर्थियों की बारी
एसटीएफ के मुताबिक अभी इस मामले में कई और गिरफ्तारियां हो सकती हैं। शनिवार को ऊधमसिंह नगर और आसपास के क्षेत्रों से करीब एक दर्जन लोगों को पूछताछ के लिए लाया गया है। इनकी भूमिका की भी जांच की जा रही है। इसके साथ ही कई अभ्यर्थियों के बारे में भी जानकारी मिली है। अब उनकी भी बारी आ सकती है। हालांकि, कुछ को गवाह भी बनाया जाएगा, लेकिन जिन लोगों ने पेपर लेकर आगे बेचा है, वे इस मामले में आरोपी ही बनाए जाएंगे।
आपको बता दें कि उत्तराखंड के लोकप्रिय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ही इस मामले में जांच के आदेश दिए थे ओर दो टूक कहा है कि उत्तराखंड में भ्रष्टाचार किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा
वहीं मुख्यमंत्री ने यह संकेत भी दिए हैं कि इसके बाद कई ओर आयोग भी जांच के दायरे में आएंगे

यह भी पढ़ें -  नकल कानून सहित अन्य योजनाओं की जानकारी आम जन तक पहुंचाने को भाजपा का अभियान कल से: चौहान देहरादून 15 फरवरी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here