प्रदेश के 27 शहरी निकायों में ट्रंचिंग ग्राउंड बनाने के लिए सरकार की ओर से 30 करोड़ रुपये जारी

प्रदेश के 27 शहरी निकायों में ट्रंचिंग ग्राउंड बनाने के लिए सरकार की ओर से 30 करोड़ रुपये जारी

कचरे के बेहतर प्रबंधन के लिए प्रदेश के 27 शहरी निकायों में ट्रंचिंग ग्राउंड बनाने के लिए सरकार की ओर से 30 करोड़ रुपये जारी कर दिए गए हैं। इसकी सिफारिश चौथे राज्य वित्त आयोग ने की थी।प्रदेश में शहरी निकायों के सामने इस समय सबसे बड़ी समस्या कूड़ा डंप करने के लिए जगह न होने की है। चौथे राज्य वित्त आयोग के सामने यही समस्या निकायों की ओर से रखी गई थी। अधिकारियों के मुताबिक मिशन गंगा के तहत भी गंगा और सहायक नदियों के किनारे बसे शहरों में ठोस अपशिष्ट के प्रबंधन की पूरी व्यवस्था का अभियान छेड़ा गया है।वर्तमान में हालात यह हैं कि कई शहरों को अन्य स्थानों पर अपने शहर का कूड़ा डंप करना पड़ रहा है। नैनीताल का कूड़ा हल्द्वानी तक पहुंचाया जा रहा है तो उत्तरकाशी में भी नदी किनारे कूड़ा फेंकने को लेकर विवाद रहा है। ऐसे में निकायों को ट्रंचिंग ग्राउंड बनने से जगह-जगह कचरा डंप करने की समस्या से निजात मिलेगी। इसके साथ ही कई शहर अपने मौजूदा डंपिंग क्षेत्रों में सुधार भी कर सकेंगे।
पालिकाएं : रुद्रप्रयाग, महुआवखेड़ागंज, सितारगंज, श्रीनगर, उत्तरकाशी, चिन्यालीसौड़, टनकपुर, डीडीहाट, धारचूला, दुगड्डा और चंपावत को बजट जारी किया गया है।

यह भी पढ़ें -  डोर-टू-डोर कूड़ा एकत्रीकरण की व्यवस्था को मजबूत करने के लिए 3.98 करोड़ रूपये की धनराशि से स्पेशल असिस्टेंश स्कीम में नगर निगम द्वारा ये 58 वाहन क्रय किये गये है 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here