धामी जी की शानदार पहल: वे स्वयं को मिलने वाले उपहारों की करवाएंगे नीलामी, जनहित के कार्यों में लगेगी इससे मिलने वाली धनराशि

धामी जी की शानदार पहल: वे स्वयं को मिलने वाले उपहारों की करवाएंगे नीलामी, जनहित के कार्यों में लगेगी इससे मिलने वाली धनराशि

धामी जी का धन्यवाद : मुख्यमंत्री को मिलने वाले उपहारों की होगी नीलामी, जनहित के कार्यों में लगेगी इससे मिलने वाली धनराशि…

मुख्यमंत्री धामी के सचिव को निर्देश मुझे मिले उपहारों की कीमत का मूल्यांकन कर की जाए नीलामी और
जनहित के कार्यों में लगेगी इससे मिलने वाली धनराशि…

मुख्यमंत्री को मिले उपहारों की होंगी नीलामी, इससे मिलने वाली धनराशि का जनहित के कार्यों में किया जाएगा इस्तेमाल..

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विभिन्न कार्यक्रमों में उन्हें मिलने वाले उपहारों को लेकर नवीन पहल की ह मुख्यमंत्री ने सचिव विनय शंकर पांडेय को निर्देश दिए हैं कि कार्यक्रमों में उन्हें जो विभिन्न प्रकार के उपहार मिलते हैं, उनके मूल्य का आंकलन कर उनकी नीलामी की जाए और इससे मिलने वाली रकम को जनहित के कार्यों में इस्तेमाल किया जाए। कोई सामान्य व्यक्ति भी नीलामी प्रक्रिया में भाग ले सकता है।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अभी हाल ही में लोगों से अपील की थी कि किसी समारोह में अतिथियों को बुके की जगह बुक देने की परंपरा शुरू करनी चाहिए। इससे भावी पीढ़ी में ज्ञान का भंडार बढ़ेगा व दिमाग का भी पोषण होगा। पौधा भेंट करना भी बुके का विकल्प हो सकता है।
अब, इसी क्रम में मुख्यमंत्री ने एक और नवीन एवं अभिनव पहल की है।
दरअसल, मुख्यमंत्री उत्तराखंड या उत्तराखंड से बाहर कार्यक्रमों में शिरकत करते हैं तो लोग तमाम उपहार उन्हें भेंट करते हैं। शॉल से लेकर पेंटिंग, विभिन्न प्रकार की आकृतियां उन्हें भेंट की जाती हैं।
अब मुख्यमंत्री ने इसे लेकर अपने सचिव विनय शंकर पांडेय को निर्देशित किया है कि उन्हें जो भी उपहार कार्यक्रमों में मिलते हैं उनके मूल्य की गणना कर इनकी नीलामी की जाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि इस नीलामी से प्राप्त होने वाली धनराशि का इस्तेमाल जनहित के विभिन्न कार्यों में इस्तेमाल किया जाए। मुख्यमंत्री ने इस हेतु सचिव को प्रस्ताव तैयार करने के लिए कहा है ताकि जल्द से जल्द इस कार्य को प्रारंभ किया जा सके।

यह भी पढ़ें -  यूनिफॉर्म सिविल कोड धामी जी का संकल्प : संकल्प जो हो रहा है साकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here