प्रदेश को साहसिक पर्यटन में सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार दिया गया, नई पहल और प्रोत्साहन को सम्मान मिला   

प्रदेश को साहसिक पर्यटन में सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार दिया गया, नई पहल और प्रोत्साहन को सम्मान मिला

रिवर राफ्टिंग, पैराग्लाइडिंग, एयरो स्पोर्ट्स, पर्वतारोहण, ट्रैकिंग में उत्तराखंड में काफी संभावनाएं है। सरकार राज्य को साहसिक पर्यटन का डेस्टिनेशन बनाने की दिशा में आगे बढ़ रही है। साहसिक पर्यटन में नई पहल और प्रोत्साहन को देखते हुए उत्तराखंड को श्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार दिया गया।
उत्तराखंड को साहसिक पर्यटन में सर्वश्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार मिला है। एडवेंचर टूर ऑपरेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (एटीओएआई) की ओर से राज्य को यह पुरस्कार प्रदान किया गया। गुजरात के केवडिया में आयोजित कार्यक्रम में सचिव पर्यटन सचिन कुर्वे ने इसे प्राप्त किया।
राज्य में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार का तीर्थाटन के अलावा साहसिक पर्यटन पर फोकस है। रिवर राफ्टिंग, पैराग्लाइडिंग, एयरो स्पोर्ट्स, पर्वतारोहण, ट्रैकिंग में उत्तराखंड में काफी संभावनाएं है। सरकार राज्य को साहसिक पर्यटन का डेस्टिनेशन बनाने की दिशा में आगे बढ़ रही है। इसके लिए नई पर्यटन नीति में साहसिक गतिविधियों व सेवाओं के लिए शत प्रतिशत सब्सिडी का प्रावधान किया गया। साहसिक पर्यटन में नई पहल और प्रोत्साहन को देखते हुए उत्तराखंड को श्रेष्ठ राज्य का पुरस्कार दिया गया।
गुजरात के केवडिया में एडवेंचर टूर ऑपरेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया की ओर से आयोजित दो दिवसीय कार्यक्रम में उत्तराखंड को पुरस्कार दिया गया। इस मौके पर सचिव पर्यटन ने कहा कि पिछले एक साल में उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद ने राज्य को देश के अग्रणी साहसिक पर्यटन राज्य के रूप में विकसित करने की दिशा में काम कर रहा है। टिहरी झील में पहली बार पैराग्लाइडिंग एक्रो फेस्टिवल का आयोजन किया गया। जिसमें 26 देशों के 54 पायलटों ने भाग लिया। इसके अलावा देश में जायरोकॉप्टर से एयरो सफारी की शुरुआत उत्तराखंड से की गई है।
सचिव ने बताया कि गंगा के अलावा रिवर राफ्टिंग व क्याकिंग के लिए शारदा, अलकनंदा, टोंस, भागीरथी नदी में ऑपरेटर शुल्क में छूट दी गई। इससे रोजगार के नए अवसर मिलेंगे। साहसिक पर्यटन के लिए रिवर राफ्टिंग एवं क्याकिंग, एयरो स्पोर्ट्स, ट्रैकिंग, वोट पैरासेलिंग की नियमावली तैयार की जा रही है।

यह भी पढ़ें -  भाजपा के संकल्प पत्र निर्माण को लेकर मिले 70 हजार से अधिक सुझाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here