मेडिकल कॉलेज के प्रथम न्यूज लेटर बुरांश का चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री ने किया विमोचन

मेडिकल कॉलेज के प्रथम न्यूज लेटर बुरांश का चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री  ने किया विमोचन

वर्ष 2023 विवरणिका भी भी हुआ विमोचन, संस्थान की तमाम गतिविधियों की जानकारी आम जनता तक पहुंचेगी: मंत्री डॉ. धन सिंह रावत 

स्वास्थ्य मंत्री बोले, एमबीबीएस छात्रों के लिए एक माह का फाउंडेशन कोर्स सिखायेगा कई गुर

श्रीनगर।

राजकीय मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस में नये सत्र में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं के प्री फाउंडेशन कोर्स में पहुंचे प्रदेश के माननीय चिकित्सा शिक्षा एवं चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत जी ने एमबीबीएस में प्रवेश लेने वाले सभी छात्रों को बेहतर पढ़ाई करने देश का सर्वेश्रेष्ठ डॉक्टर बनने के साथ श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में आने पर स्वागत किया। इसके साथ ही मेडिकल कॉलेज द्वारा प्रकाशित प्रथम हिंदी न्यूज लेटर बुरांश एवं वर्ष 2023 विवरणिका का भी विमोचन किया। स्वास्थ्य मंत्री जी ने कहा कि मेडिकल कॉलेज में मरीज हित में हुए कार्यो एवं शैक्षणिक कार्यो का दर्शाता हिंदी न्यूज लेटर व विवरणिका से मेडिकल कॉलेज का नाम रोशन होगा। उन्होंने न्यूज लेटर के माध्यम से आम जनता को मेडिकल कॉलेज के कार्यो की जानकारी मिल पायेगी। उन्होंने न्यूज लेटर में छात्र के साथ फैकल्टी भी कुछ ना कुछ लिखने का आह्वान किया। 

मेडिकल कॉलेज के प्रेक्षागृह में आयोजित प्री फाउंडेशन कोर्स के मौके पर मा. मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने एडमिशन लेने वाले छात्र-छात्राओं के एक माह के फाउंडेशन कोर्स की शुभकामनाएं दी। कहा कि उक्त कोर्स से स्टूडेंट्स को प्रोफेशनल एथिक्स, कम्युनिकेशन स्किल, टाइम मैनेजमेंट, स्ट्रेस मैनेजमेंट के साथ बेसिक लाइफ स्पोर्ट समेत अन्य तकनीक के गुर भी सिखाए जाएंगे। जबकि कॉलेज की जानकारी के साथ मरीज से व्यवहार भी सिखाया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस छात्रों के लिए हॉस्टल से लेकर तमाम सुविधाएं जुटाई गई। ताकि बच्चों को किसी भी प्रकार की दिक्कतें ना हो। उन्होने आईआईटी मुम्बई और आईएमए अहमदाबाद का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां के बच्चों के पास किसी भी प्रकार का वाहन नहीं होता, इस व्यवस्था पर पूछा गया तो कहा गया कि शैक्षणिक संस्थान में सभी बच्चे एक समान दिखे इसके लिए किसी भी छात्र को वाहन रखना अनिवार्य नहीं किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री जी ने कहा कि मेडिकल कॉलेजों में अब छात्रों को पढ़ाई के साथ दो घंटे खेल, योगा और कल्चर प्रोग्राम के लिए होगे। जबकि एमबीबीएस के छात्र एनसीसी एवं एनएसएस में भी प्रतिभाग करे इसके लिए कार्यवाही शुरु होगी। छात्रों के लिए बीमा योजना भी लागू करने जा रहे है। टॉपर छात्र को छात्रवृत्ति देने की भी योजना शुरु हो रही है। छात्रों के ई ग्रंथालय, सहित योगा कक्षाएं भी शुरु होगी। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सीएमएस रावत जी ने कार्यक्रम में पहुंचने पर प्रदेश के माननीय चिकित्सा शिक्षा एवं चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत जी का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि माननीय स्वास्थ्य मंत्री जी की पहल पर आज प्रदेश के चारों मेडिकल कॉलेजों में बेहतर व्यवस्थाएं हो रही है, जबकि फैकल्टी, कर्मचारी, नर्सिंग स्टाफ के साथ ही तमाम संसाधन उपलब्ध होने से मरीजों को अच्छा इलाज मिल रहा है। संस्थान के प्रथम न्यूज लेटर बुरांश में हर माह की जानकारी आम जनता व मेडिकल कॉलेज को मिलेगी। इस मौके पर भाजपा मंडल अध्यक्ष जितेन्द्र धिरवाण, डिप्टी एमएस डॉ. अर्जुन सिंह, डॉ. दीपक द्विवेदी, डॉ. निरंजन कुमार गुंजन, डॉ. राजेन्द्र शर्मा, डॉ. सुरेन्द्र सिंह, मनमोहन सिंधवाल सहित तमाम फैकल्टी एवं एमबीबीएस छात्र मौजूद थे।

—————————

छात्र दे मेडिकल कॉलेज के संदर्भ में गुप्त लेटर-

माननीय चिकित्सा शिक्षा एवं चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि सभी मेडिकल कॉलेजों में सुझाव पेटी रखने के निर्देश दिये है, जिसमें मेडिकल कॉलेज कर हर छात्र बिना नाम लिख उसमें सुझाव दे सकता है। ताकि छात्रों के सुझावों पर अमल हो सके। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस छात्रों के अभिभावकों के लिए भी एक अनुभव रजिस्ट्रर रखे जाने के निर्देश दिये। ताकि छात्रों अभिभावक भी अपने अनुभव लिख सके।

 

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र की भ्रष्टाचार को रोकने की पहल के दिखने लगे हैं नतीजे


उत्तराखंड की ताजा खबरें पढ़ने के लिए हमसे जुड़ें


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here