राष्ट्रीय मत्स्य पालन दिवस के अवसर पर प्रमुख द्वारीखाल महेन्द्र सिंह राणा ने नयार नदी बांघाट में मत्स्य जीवों को किया प्रवाहित

राष्ट्रीय मत्स्य पालन दिवस के अवसर पर प्रमुख द्वारीखाल महेन्द्र सिंह राणा ने नयार नदी बांघाट में मत्स्य जीवों को किया प्रवाहित

 

आज मत्स्य विभाग व समूह पलायन एवं चिन्तन के संयुक्त तत्वाधान मेे रीवर रीचिंग कार्यक्रम के अन्तर्गत नयार नदी सीला बांघाट के पुल के नीचे प्रमुख द्वारीखाल महेन्द्र सिंह राणा एवं समूह पलायन एवं चिन्तन के सदस्यों द्वारा मत्स्य के पचास हजार मत्स्य सीड नयार नदी में प्रवाहित किये गये। इनमें रोहू एव सिल्वर कार्प प्रजाति की मछली के छोटे बच्चे बांघाट पुल के नीचे प्रमुख राणा एवं जिला पंचायत सदस्य संजय डबराल एवं समूह पलायन एवं चिन्तन के अजय रावत, अनिल बहुगुणा, कृष्णा काला द्वारा रोहू एव सिल्वर कार्प प्रजाति की मछली के छोटे बच्चे नदी में प्रवाहित किये।  इस अवसर पर प्रमुख राणा ने कहा कि जलचर जीवों एवं मछलियों के संवर्धन हेतु जनता को भी जागरूक करना चाहिए। मछलियों का अवैध शिकार न हो तथा मत्स्य संवर्धन को बढावा मिले। इससे मत्स्य पालन में हमारे यहां के युवाओ को रोजगार भी मिल सके। यह एक अच्छी पहल है।

इस अवसर पर प्रधान बिलखेत सुमित्रा देवी, प्रधान संगठन अध्यक्ष द्वारीखाल अर्जुन सिंह नेगी, पूर्व सहा0 विकास अधिकारी पचंयत द्वारीखाल मनमोहन बिष्ट, पूर्व क्षेत्र पंचायत  राकेश असवाल, पत्रकार जगमोहन डांगी, प्रेम प्रकाश कुकरेती, पूर्व प्रधान साकनी देेवेन्द्र सिंह, प्रधान किनसूर दीपचन्द, जीवन शाह एवं बडी संख्या में स्थानीय निवासी मौजूद रहे।

 

यह भी पढ़ें -  देवभूमि के साथ उत्तराखंड को जाना जाएगा खेल भूमि के रूप में : मंत्री रेखा आर्या


उत्तराखंड की ताजा खबरें पढ़ने के लिए हमसे जुड़ें


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here