प्रमुख महेन्द्र सिंह राणा ने विकासखण्ड मुख्यालय द्वारीखाल में ली विकास कार्यो की समीक्षा बैठक प्रमुख महेन्द्र राणा ने विकासखण्ड मुख्यालय द्वारीखाल में विकास कार्यो की समीक्षा की।

प्रमुख महेन्द्र सिंह राणा ने विकासखण्ड मुख्यालय द्वारीखाल में ली विकास कार्यो की समीक्षा बैठक

प्रमुख महेन्द्र राणा ने विकासखण्ड मुख्यालय द्वारीखाल में विकास कार्यो की समीक्षा की।

 

 विभागीय समीक्षा बैठक में निर्माण कार्यो से सम्बन्धित योजनाओं की धीमी प्रगति पर नाराजगी जताई। समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि निर्माण कार्यो में पारदर्शिता से कार्य करें, जब कार्य शुरू हो तभी से उसका अनुश्रवण करें, कार्यो की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दे।ग्राम पंचायतों में निर्माण कार्यो में क्षेत्र पंचायत सदस्य प्रधान ग्राम पंचायत एवं ग्रामवासियों का भी सहयोग ले।

पंचायतराज विभाग की समीक्षा के दौरान राशनकार्ड, जन्म प्रमाण पत्र, मृत्यु प्रमाण पत्र,परिवार रजिस्टर शंशोधन की चर्चा में कर्मचारियों द्वारा आधी अधूरी प्रगति प्रस्तुत करने पर प्रमुख द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई तथा कार्य शैली में सुधार लाने के निर्देशित दिए। पंचायत भवन की चर्चा में 15 पंचायत भवन स्वीकृत है,लेकिन अवर अभियन्ता पंचायत को पंचायत भवन की माप की जानकारी नही है,जिसमें प्रमुख ने उन्हे सही तरीके से माप की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए, ग्राम पंचायत की राज्य वित्त एवं केन्द्रीय वित्त की प्रगति समीक्षा के दौरान ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों द्वारा आधी अधूरी रिर्पोट प्रस्तुत करने पर प्रमुख द्वारा ए0डी0ओ0 पंचायत एवं ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों को चेतावनी देते हुए,निर्देशित किया कि सभी अधिकारी पूर्ण सूचना के साथ बैठक में प्रतिभाग करें। जिन स्वीकृत योजनाओं पर कार्य नही हो रहा है उन्हे संशोधित करके नया प्लान बनाने के निर्देश दिए। एन.आर.एल.एम की चर्चा में समूह गठन सी0सी0एल0,एम0सी0सी0 पर चर्चा हुई प्रमुख द्वारा निर्देशित किया कि समूहो का वार्षिक टर्न ओवर का लेखा जोखा तैयार किया जाए तथा आगामी बैठक में पूरा लेखा जोखा सहित उपलब्ध कराये। सहकारिता विभाग की चर्चा में सहायक विकास अधिकारी सहकारिता द्वारा समितियों के माध्यम से ऋण वितरण की जानकारी दी,कि समितियों द्वारा 0%प्रतिशत व्याज पर समिति के सदस्यों को ऋण वितरण किया जा रहा है,

इसका प्रचार प्रसार किया जाए। युवा कल्याण  विभाग की चर्चा में बी0ओ0 द्वारा बताया गया कि विकासखण्ड में 33 ग्राम पंचायतों में जिम निर्माण के लिए धनराशि स्वीकृत है, प्रमुख द्वारा निर्देशित किया कि उक्त योजना सभी ग्राम पंचायतों में लागू की जाए। वृक्षारोपण कार्यक्रम में प्रमुख द्वारा निर्देशित किया गया कि गत वर्षो में जो फलदार पौधे रोपित किये गये थे, उसका आउट पुट क्या है तथा आगे के लिए ग्राम पंचायतों में फलदार पौधों की मांग प्राप्त कर खण्ड विकास अधिकरी को सूची उपलब्ध कराये साथ ही ग्राम पंचायतवार पूर्व में रोपित फलदार जीवित पौधो का विवरण उपलब्ध कराये। प्रधानमंत्री आवास योजना में विकासखण्ड में 161 आवास स्वीकृत है,जिनका कार्य प्रगति पर है,खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि आवासों की गुणवत्ता पर ध्यान देकर आवासों का कार्य 3 माह में पूर्ण करे, मनरेगा योजना की समीक्षा के दौरान डी.पी.ओ. द्वारा बताया गया कि इस वित्तीय वर्ष में मनरेगा के अन्तर्गत 305 निर्माण कार्य स्वीकृत है,25 निर्माण कार्य पूर्ण हो गए है,280 निर्माण कार्य प्रगति पर हैै, अब तक 1 लाख 44 हजार 526 मानवदिवसो का श्रृजन हुआ है। 58 मजदूरों के 100 दिन की मजदूरी पूर्ण हो गई है,तथा अब तक 3 करोड़ 8 लाख 77 हजार रूपये मजदूरो का मजदूरी का भुगतान किया गया। प्रमुख द्वारा निर्देशित किया कि प्रत्येक कार्य पर बोर्ड बनाया जाए तथा उसपर योजना का पूर्ण विवरण अंकित किया जाए ताकि ग्रामवासियों को योजना की जानकारी मिल सके, साथ ही रोजगार परक योजना के अन्तर्गत व्यक्तिगत लाभार्थी योजना में पात्र व्यक्तियों को मुर्गीबाड़ा,बकरीबाड़ा,गौशाला आदि का चयन कर इनका भौतिक सत्यापन भी करें। समाज कल्याण की समीक्षा में इस वित्तीय वर्ष में वृद्धावस्था पेंशनi के 90, विधव पेंशन के 44,दिव्यांग पेंशन के 13, दिव्यांग भरण पोषण अनुदान 4, किसान पेंशन 50,परित्यक्ता पेंशन2,राष्ट्रीय परिवारिक लाभ 1 स्वीकृती हुई है साथ ही एस.सी.पी. के अन्तर्गत 9 योजनाओं 48.66 लाख के प्रस्ताव प्रेषित किये गए है। प्रमुख द्वारा सभी अधिकारियों कर्मचारियों को निर्देशित किया कि वे आगामी समीक्षा बैठक में पूर्ण तैयारी के साथ अपने अभिलेखो के साथ उपस्थित हो तथा अपने क्षेत्रो में सरकार द्वारा संचालित जनहित की योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रसार करें जिससे कि आम आदमी को इसका लाभ मिल सके,इस अवसर पर खण्ड विकास अधिकारी जयकृत सिंह बिष्ट,सहायक विकास अधिकारी पं0 जयदीप रावत, सहायक समाज कल्याण अधिकारी हरपाल सिंह रावत,बी.ओ.संजय बिष्ट,ए.डी.ओ.कोपरेटिव केदारदत्त कण्डवाल,लेखाकार, पी.डी.सनवा ल,डी.पी.ओ अश्वत बड़त्वाल,जे.ई खेमपाल,रश्मि,विजयपाल,चन्द्रपाल,नवीन सिंह,ए.बी.डी.ओ. जितेन्द्र सिंह,समस्त ग्राम विकास अधिकारी,ग्राम पंचायत विकास अधिकारी,रोजगार सेवक,एन.आर.एल.एम. स्टॉफ एवं समस्त अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे..

 

यह भी पढ़ें -  श्रीनगर में खुलेगा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस ब्लड बैंकः डॉ. धन सिंह रावत


उत्तराखंड की ताजा खबरें पढ़ने के लिए हमसे जुड़ें


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here