उत्तराखंडः घर में घुसे बदमाशों ने पहले बनवाया खाना और चाय, फिर लाखों का सामान लेकर हुए फरार

उत्तराखंडः घर में घुसे बदमाशों ने पहले बनवाया खाना और चाय, फिर लाखों का सामान लेकर हुए फरार

हरिद्वार। बहादराबाद थानाक्षेत्र के दौलतपुर गांव में सोमवार रात नकाबपोश बदमाशों ने एक परिवार को बंधक बनाकर लाखों की डकैती को अंजाम दे डाला।बदमाशों ने नकदी और जेवरात बटोरने से पहले आराम से खाना बनवाकर खाया और चाय भी पी। इसके बाद परिवार वालों को बंधक बनाकर डकैती को अंजाम दिया। बहादराबाद के धनौरी रोड पर स्थित गांव दौलतपुर में रहने वाले संदीप गिरी के मकान में बदमाश रात 11 बजे घुसे थे। इसके बाद संदीप को कहा कि उन्हें भूख लगी है। खाना खिलाओ। संदीप की पत्नी ने बदमाशों के लिए खाना बनाया। इसके बाद बदमाशों ने चाय की डिमांड की।

 

तमंचे के बल पर डरा धमकाकर बदमाश लाखों के जेवरात और 80 हजार रुपये की नकदी लेकर फरार हो गए। काफी देर बाद परिवार ने शोर मचाकर पड़ोसियों को वारदात की सूचना दी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस सहित आला अधिकारियों ने मौका मुआयना की। पुलिस व एसओजी की टीमें बदमाशों की तलाश में जुटी हैं।

पुलिस के मुताबिक, बहादराबाद-धनौरी मार्ग पर दौलतपुर में संदीप गिरी का मकान है। बगल में अमीर हसन की थर्माकोल गलाने वाली भट्टी है। रात में चौकीदार मुकेश कुमार भट्टी पर रहता है। सोमवार देर रात करीब आठ-नौ नकाबपोश बदमाश थर्माकोल की भट्टी पर पहुंचे और मुकेश को तमंचे के बल पर काबू में करते हुए करीब तीन घंटे तक रुके रहे। चौकीदार से संदीप के घर में दाखिल होने का रास्ता पूछने और आस पास का जायजा लेने के बाद बदमाश पेड़ पर चढ़कर संदीप की छत पर पहुंच गए।

यह भी पढ़ें -  श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने उत्पादों की सराहना की, कहा उत्तराखण्ड आरगैनिक कमोडिटी बोर्ड जैविक उत्पादों पर कर रहा प्रशंसनीय कार्य।

बाद में सीढ़ियों के रास्ते छह बदमाश घर के भीतर पहुंचे और तमंचे के बल पर संदीप व उनकी पत्नी, एक बेटे व भतीजे को बंधक बना लिया। जबकि तीन बदमाश छत पर रुककर निगरानी करते रहे। बदमाशों ने संदीप व उनकी पत्नी को डरा धमकाकर दूसरे कमरे में मौजूद अलमारी के ताले खुलवाए और 80 हजार की नकदी व जेवरात और तीन मोबाइल फोन लेकर फरार हो गए। बदमाशों के जाने के बाद भी परिवार दहशत में रहा। काफी देर बाद उन्होंने शोर मचाकर पड़ोसियों को जगाते हुए आपबीती बताई।

परिवार को बंधक बनाकर डकैती की सूचना से पुलिस में हड़कंप मच गया। थानाध्यक्ष संजीव थपलियाल ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली और आला अधिकारियों को अवगत कराया। जिसके बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, सीओ सदर डा. विशाखा अशोक भडाणे ने मौके पर पहुंचकर पीड़ित परिवार से बात की और घटनास्थल का जायजा लिया। पुलिस व एसओजी ने बदमाशों की तलाश में काम्बिंग भी की, पर कोई सुराग नहीं मिल पाया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि हर एंगल से मामले की छानबीन करते हुए बदमाशों की तलाश शुरू कर दी गई है। बहुत जल्द बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

बताया जा रहा है कि संदीप अपने गांव जटौला में दो दिन पहले हिस्से की जमीन बेचकर आया था। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि बदमाशों को पता था कि संदीप के पास इस समय रुपया है। सुबह चार बजे बदमाश पूरे इत्मिनान के साथ घर से वापस उसी रास्ते से निकले जिस रास्ते से वह आए थे। बदमाशों ने घटना के दौरान अपना मुंह भी नहीं ढका हुआ था। बदमाशों का मुंह न ढकना साफ-साफ इशारा करता है कि डकैती डालने के लिए आया गैंग बाहरी था।

यह भी पढ़ें -  ऐसा तो देखा पहली बार : मुख्यमंत्री धामी ने उत्तराखण्ड आये शिवभक्त कावड़ियों के चरण धोकर किया स्वागत

बदमाशों ने पहले मांगा खाना, फिर पी चाय

डकैती को अंजाम देने से पहले बदमाशों ने परिवार को बंधक बनाने के बाद खाना मांगा। संदीप की पत्नी ने बताया कि खाना बना हुआ नहीं है, इस पर बदमाशों का कहना था कि चलो चाय ही बनाकर पिला दो। संदीप की पत्नी से चाय बनवाकर पीने के बाद ही वह नकदी, जेवर लेकर फरार हुए। पुलिस व ग्रामीण गनीमत मान रहे हैं कि बदमाशों ने परिवार के किसी सदस्य को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here